Infosys Company Culture की प्रेरणा से Dadasaheb Bhagat Office Boy से Entrepreneur बने!

WhatsApp Channel Join Now
Telegram Channel Join Now

Dadasaheb Bhagat , Former Employee Of Infosys Company कि यह प्रेरणादायी कहानी, हमारे स्टार्टअप बिज़नेस के लिए प्रेरणा देने के मकसद पर बड़ा योगदान देनेवाला है। इस आम कर्मचारी ने मार्किट में पनप रहे अवसरों को वक़्त पर समझकर, इसको आयोजन के साथ प्रदान करने के लिए मेहनत पर अमल किया।

एक अकल्पनीय विकल्प को अपने लिए संभव बनाया। एक बड़े लक्ष्य के लिए एक-एक कदम को चलते हुए हर किसी के सामने अपना अद्भुत उदाहरण बनाया है।

Infosys Company Culture
Infosys Company Culture

Infosys Guest House से खुदका Startup Business तक की कहानी

Dadasaheb Bhagat CEO Of Two Startups बनने से पहले Infosys Guest House की देख रेख का काम करते थे।ITI diploma programme पूरा करने के बाद अपने गाँव Beed, Maharashtra से Pune, Maharashtra में ₹9000 की room service boy की नौकरी से शुरुवात की थी।

उन्होंने उस वक़्त industrial job के बजाय Infosys guest house पर नौकरी की। वहाँ रूम सर्विस, चाय पानी की देख रेख की सुविधाओं को देख, इस काम में दिलचस्पी बढ़ने लगी।

Dadasaheb Bhagat को Infosys Company काम करने के वजह से Software Industry में काम करने का महत्व पता चला। उन्हें कंपनी में काम करने डिग्री की आवयश्यकता के बारे में भी पता था।

डिग्री के बिना उन्हें कंपनी में काम करने चाहे न मिले, उन्होंने Animation और Design के काम में आगे बढ़ने का प्रोत्साहन लिया। उन्होंने नौकरी के बाद Animation Class लगवाये, जिसके कारण उन्हें सही में अच्छी नौकरी कंपनी में लगी।

ह्यदेरबाद आधारित Design और Graphic Firm में काम करते हुए, उन्होंने Python and C++ सीखा। इस दरमियान, उन्हें ये ज्ञात हो गया था कि असल में Visual Effect बनाने में काफी वक़्त लगता है, इसलिए उन्होंने library of reusable templates बनाकर उन design templates को online बेचने का काम किया।

इस Former Employee Of Infosys Company ने Fortune In Disguise कि बात को सच्च बनाते हुए, अपने Car Accident के बाद नौकरी छोड़कर घर से डिज़ाइन Library बनाकर बेचीं और अपने पहली कंपनी Ninthmotion बनाई, जिसमें से उन्होंने दुनियाभर में 6,000 clients बनाये।

WhatsApp Channel Join Now
Telegram Channel Join Now

उस समय BBC Studios और 9XM music channel उनके क्लाइंट रहे। Canva Like Online Graphic Design को बेचने उन्होंने एपीआई दूसरी कंपनी DooGraphics का निर्माण किया, जिसके 10 हजार एक्टिव यूजर हैं। अब इस प्लात्फ्रोम के यूजर महाराष्ट्र, दिल्ली, बैंगलोर के साथ जापान, ऑस्ट्रेलिया, और यूनाइटेड किंगडम में भी अलप संख्या में हैं।

Must Read:

Bhavish Aggarwal’s Krutrim AI Platform को किया Livestream

Third Wave Coffee ने 120 कर्मचारियों को नौकरी से निकाला, Nikhil Kamath है इसमें इन्वेस्टर

Microsoft CEO Satya Nadella ने AI Innovation और उपयोगिता बनाने की जिम्मेवारी बताई!

Conclusion

Dadasaheb Bhagat, A Former Office Boy At Infosys में Startup Entrepreneur के सभी गुण थे, इसलिए वह आम पृष्टभूमि से अकार भी २ व्यवसाय बना पाये । उन्होंने सीखें और आगे बढ़ने की अकल्पनीय कोशिश की और हर परिस्तिथि को अपने लिए योग्य अवसर बनाने की युक्ति की। अपने अकस्मात के बाद भी नौकरी के बिना उन्होंने वक़्त का इस्तेमाल कर, व्यवसाय बनाया।

COVID-19 में उन्हें पुणे छोड़कर बीड़ में अपने गाँव आना पड़ा था। उन्होंने पशु के लिए बनाये हुए तबेले जैसी व्यवस्थे के ऊंचाई पर 4G network का समाधान करते हुए easy drag-and-drop interface platfrom के निर्माण करके Successful Business बनाया।

सदाहरण जीवन से आये हुए इस असदाहरण प्रसंग ने आपको बिज़नेस के बारे में काफी कुछ सिखाया होगा। हम और भी ऐसे किस्सों की सूचि बनाने का काम करते रहेंगे।

Loading poll ...

Leave a Comment

Know Your Shark’s Age : Youngest to Eldest at Shark Tank India News Season: Shark Tank India Starting Date Announced Swiggy: एक दिन में 207 पिज्जा, प्रति मिनट 271 केक या 42.3 लाख रुपये प्रति वर्ष! Top 6 Indian Cities With Highest Number of Billionaires List: All 6 New Judges of Shark Tank India Season 3