Rapid Fire With Shark Ghazal Alagh Mamearth Co-founder Chief Mama

एक के बाद एक शार्क्स के रैपिड फायर शार्क टैंक इंडिया के इंस्टाग्राम स्टोरीज में आने शुरू हो गए हैं। अब कुछ समय ही रहा है कार्यक्रम शुरू होने, उससे पहले ही एक एक शार्क का अपना अपना स्पार्क नजर आना शुरू हो गया है। ग़ज़ल अलघ के कन्वर्सेशन और जवाब में बिज़नेस के लिए मनी से भी परे विज़न नजर आया।

Shark tank india judges rapid fire

हर शार्क की आइडियोलॉजी है , जो वो अपने एक्सपीरियंस से बताते हुए नजर आये। एक शुरुवात में मिलती हुई इतनी साड़ी एडवाइस न केवल प्रतियोगिता के लिए प्रेरणादायी हैं , बल्कि ऑडियंस और देश में एक विचार धारा भी बनेगी।

Rapid Fire Questions With Shark Tank India Judge Ghazal Alagh | Co-Founder Chief Mama Of Mamaearth

आइये देखते हैं – रैपिड फायर विथ शार्क ग़ज़ल अलघ , मामाअर्थ को- फाउंडर एंड चीफ मामा !

ग़ज़ल अलग के बारे में और पढ़ें:- Ghazal Algh MamaEarth Co-Founder, Shark Tank India Judge

MamaEarth Website:- MamaEarth

Ghazal Alagh LinkedIn:- Ghazal Alagh

आपका पसंदीदा शार्क कौन है? Who is your favourite shark?

आई थिंक माई फेवरेट शार्क इस नमिता, क्योंकि उनकी बातें कभी खत्म नहीं होती हैं। एंड शी कीप्स मी एंटरटेनड व्होल डे।

शार्क टैंक इंडिया में निवेश करने के लिए आप किस प्रकार के व्यवसाय की उम्मीद कर रहे हैं? What kinds of business are you looking forward to invest in shark tank india?

मैं व्यवसायों में निवेश करने के लिए उत्सुक नहीं हूं, मैं लोगों और संस्थापकों में निवेश करने के लिए उत्सुक हूं जो के बहुत ज्यादा पैशनेट हो, फियर्स हो, जिनमें जुनून हो कुछ कर दिखाने का, सोसाइटी में कुछ डिफरेंस लानेका।

एक महिला उद्यमी के रूप में आपको किन चुनौतियों का सामना करना पड़ा? As a woman entrepreneur what challenges did you face?

कारखानों में जहा पुरुषो को महत्व दिया जाता हैं और आप वहा जाए तो वे लोग अलग स्वभाव से देखने और बात करने लगते हैं।

आपने किस उम्र में तय किया कि आप एक उद्यमी बनना चाहते हैं? At what age did you decide you wanted to be an entrepreneur?

मेने कभी सोचा नहीं था की मुझे एंटरप्रेन्योर बनना हैं, मुझे सिर्फ कामयाब होना था।

मेने अपना पहला स्टार्टअप शुरू किया था जब मे २७ वर्ष कि थी और MamaEarth मेरा दूसरा स्टार्टअप था तब शायद में २८ वर्ष कि थी।

इन इंस्टाग्राम स्टोरीज और कन्वर्सेशन से प्रोग्राम से अपेक्षाएं बढ़ती जा रही है। खासकर लोखड़ौउन में गिरते हुए बिज़नेस भी न्यू एप्रोच और निर्णय के लिए प्रेरणा ले सकेंगे। अभी तो सिर्फ शार्क्स की बाते शार्क टैंक इंडिया ने बताई है। आगे स्पर्धी की बातों से क्या जोश बनेगा उसके लिए हम सब बेताब हैं। हर शार्क्स ने हिस्सेदारी लेते हुए सिर्फ पैसे नहीं , पैसो से बढ़कर एक सोच और अनुभव बनते हुए इस कार्यक्रम के द्वारा आते नजर आएंगे।