Company Valuation Meaning With Example In Hindi

Shark Tank India Episode 2 Insaan, Ideas Aur Sapne के अंत में शार्क अनुपम मित्तल (Shark Anupam Mittal) ने बिज़नेस वैल्यूएशन के बारे में सरल शब्द में अर्थ समझाया है। क्योंकि सौदे करने के लिए ये मुख्या विषय हम भी आम लोगों को संक्षिप्त में हिन्दी में बातें करेंगे। हालांकि हमने अर्थ को आपतक लाते हुए, यह भी कोशिश की है कि इस विषय को ज्यादा मुश्किल न बनाये। एक व्यवहारिक फिनांस कंपनी इस विषय में काफी भारी गणित के साथ बाजार का ब्यौरा करके इसको तय करते हैं। हमारा उद्देश्य उस तरीके के गणित में निपुण प्रोफ़ेस्सशनल को तैयार करवाना नहीं। हम आम जनता में इन विषय को लेकर समझ और प्रेरणा देना है।

Shark Lesson Of The Day by Shark Anupam Mittal

शार्क अनुपम मित्तल (Shark Anupam Mittal) ने एपिसोड में समझाया है कि – “वैल्यूएशन आपके कंपनी का मूल्य होता है। उसका अनुमान लगाया जाता है । आपके भविष्य के प्रॉफिट मार्जिन (Profit Margin) और सेल्स ग्रोथ (Sales Growth) से इसलिए ये हमेशा नेगोसिएशन (Negotiation) होता है।”

Shark Tank ki PaathshalaCompany Valuation as explained on Instagram के वाक्य और उदाहरण पर नजर करने के बाद हम उसे हिंदी में गहराई में समझने का प्रयास करेंगे। हर बिज़नेस डील में यह इतना महत्त्वपूर्ण चर्चित विषय बना हुआ है, तो हम आज उसके लिए दृष्टिकोण और प्रक्रियाओं का विश्लेष्ण के साथ बातें करेंगे। इन बातों में हम कोशिश करेंगे की आर्थिक किताबों में हर पर्याय से किस्से लेकर पूरी किताबें बनाई गयी है, उतना व्याख्यान करके मुश्किल न बनाये। बल्कि हम इसे आम आदमी के लिए एक विस्तार करते हुए बिज़नेस की समझ को बढ़ाने का प्रयास करना चाहते हैं।

Company Valuation Meaning With Example In Hindi
Company Valuation Meaning With Example In Hindi

Company Valuation या Business Valuation के अर्थ के साथ व्यापारी दृष्टिकोण में किताबी ज्ञान के निचोड़ को सादाहरण और आसान शब्दों में बातचीत करने का प्रयास करेंगे। हर भारतीय को इस विषय में रुची लेकर आगे बढ़ने के लिए प्रेरित करना चाहते हैं। Shark Tank ki Paathshala – Company Valuation Statement इंस्टाग्राम पर जो दिया है, उसमें विषय को संक्षिप्त में दिया है। हमें उसे बिज़नेस के लिए विस्तार में देखने उसकी बातचीत आज इस पोस्ट में करेंगे।

Company Valuation Definition

“A quantitative process of determining the fair value of a firm.”

Eg – As of the date of the Shark Tank pitch, the total company value of Booz Scooters by Rutvij Dasadia was valued at Rs. 2.67 crores.

यह टोटल कंपनी वैल्यू Rs. 2.67 crore जो शार्क टैंक इंडिया पर ऑफर , काउंटर ऑफर द्वारा सौदे के लिए चर्चा की जाती है , वह किस तरह तय होती है , उसे जानेंगे और अपने बिज़नेस को आगे लाने के लिए हिसाब लगाने सीखेंगे।

Why Business Entrepreneur calculate Business Valuation ? | व्यापार उद्यमी व्यापार मूल्यांकन की गणना क्यों करते हैं ?

  1. कई इक्विटी धारक को सूचित रखने (Report numerous Equity Holder)

एक बार बिज़नेस को कंपनी की तरह स्थापित कर देने के बाद equity value की रिपोर्टिंग समय अनुसार करनी पड़ती है । ऐसे में Total Equity Value को कई नियमानुसार तय किया जाता है। कंपनी में यह सब गणित अमल करने के लिए एक्सपर्ट लोग नियुक्त किये होते हैं। बड़ी कंपनी में यह रोजमर्रा या कहे नियमित प्रक्रिया है, जहाँ कई इक्विटी ओनर हो सकते हैं और उन्हें उनके शेयर की किम्मत के बारे जानकारी समय रहते सूचित रखना होता है।

  1. योगदानकर्ता के लिए सटीक मॉनेटरी लाभ प्रदान करने (To provide accurate Monetory Benefit to Contributor)

मेहनत को श्रेय का हिस्सा देने के साथ साथ बाजार में मौजूद उसकी सही किम्मत को परखना एक थेओरिटिकल (सिद्धांतात्मक) शिक्षा के परे, व्यवहारिक किम्मत को सही मालिकी और सही राशि के साथ उसके ह्क़्क़दार को सटीक गणित प्रदान करने प्रक्रियाओं को चुनना चाहिए। Business Valuation Methods जान्ने के पहले उसके उद्देश्य से चलेंगे तो इन प्रक्रियाओं के ऊपर शार्क की तरह मूल्य के विपरीत आकड़े निकालकर Business Deals लेने और देने में माहिर होते जायेंगे।

  1. बाजार में व्यापार के सही मूल्य की पहचान जारी करने (Negotiate and Alter true value of Business in the market)

बिज़नेस वैल्यूएशन (Business Valuation) के तरीके बाजार में व्यापार के सही मूल्य की पहचान जारी करने प्रयास में बनते आये हैं। इतने सारे प्रक्रियाओं और तरीको की आर्थिक संरचना के बावजूद भी, सौदे करने के लिए कई व्यापारी तर्क लगाकर उस मूल्य में ऑफर और काउंटर ऑफर करते हैं। Shark Tank India Season 1 Business pitching में Initial Business Valuation Calculation पर शार्क ने उनके आकड़ो से अलग किम्मत पर Business Deal अमल की हैं।

बिज़नेस का अबतक का योगदान और आगे लगनेवाले योगदान के बीच के खिचाव करने के साथ साथ बाजार में उसका क्या मूल्य है, उसकी खोज उस बिज़नेस इंडस्ट्री मेथड और बिज़नेस के मौजूदा परिस्थिति के अनुसार व्यवहारिक किम्मत तय की जाती है। तर्क के साथ आर्थिक शिक्षाओं में जोड़े गयी मूल्य गणना को व्यापार की प्रकृति अनुसार समझकर अमल करना चाहिए। हालांकि बिज़नेस के व्यक्तगत परिस्तिथि के लिए उसके गणित में अंतर लेते हुए किम्मत को बेहतर दाम में तर्क के साथ बढ़ाया जा सकता है अथवा कम किया जा सकता है।

Company Valuation Meaning With Example In Hindi
Company Valuation Meaning With Example In Hindi
  1. व्यापार मॉडल स्थापित करने या बदलने (Establish or Change Business Model)

अन्य संगठित बिज़नेस के प्रकारों जो अभीतक कंपनी नहीं है, उनमें बिज़नेस वैल्यूएशन (Business Valuation) व्यवहार आने पर किया जाता है। बिज़नेस को किसी संगठित प्रणाली में निवेशदाताओं को जोड़ने या निकालते वक़्त उसके मौजूदा मालिक को – बिज़नेस की तब तक की किम्मत चुकाने के लिए उस व्यवहार तक का गणित किया जाता है। बाजार में धंदे की किम्मत जांचकर अन्य नियम और बिज़नेस सेटअप से होनेवाले फायदे को रुपये में अंकित करने के लिए अलग अलग प्रक्रिया आर्थिक संरचना में प्रदर्शित किये हुए हैं।

प्री रेवेनुए बिज़नेस (Pre revenue Business) में जब बड़े निवेश प्राप्त करने पर ही बिज़नेस किया जा सकता है, उसके पंजीकरण करने के पहले (Business Valuation Amount ) तय करके उस बिज़नेस प्लान करनेवाले बिज़नेस इंटरप्रेन्योर को उसका भाग दिया जाता है और मालिकी फिर बिज़नेस के हित में तय की जाती है। ऐसे में मालिकी बट जाती है , लेकिन बुसिनेस में निवेश आने के रास्ते और अन्य प्रक्रिया सरल बन जाती हैं।

When do we perform Business Valuation? | बिज़नेस वैल्यूएशन कब करते हैं ?

जैसे की हमने बात की , कंपनी को कई कारणों से Equity और Business Valuation तैयार रखना पड़ता है। लेकिन व्यापार में आनेवाले कई ऐसे स्तर हैं , जहाँ Business Valuation Calculation हर बिज़नेस को करने पड़ते हैं। कुछ ऐसे प्रसंग की सूची बनाते हैं, जहाँ हम बिज़नेस वैल्यूएशन ( Business Valuation) करते हैं,

Commencement of Business

नया व्यापार बनाने, व्यापार की शुरुआत करने के लिए बिज़नेस एंटरप्रेन्योर को बिज़नेस वैल्यूएशन ( Business Valuation) करके निवेश प्राप्त करना पड़ता है।

Expansion

बिज़नेस विस्तार करने के लिए मौजूद व्यापार और मालिकी और किम्मत संरचना करने बिज़नेस वैल्यूएशन ( Business Valuation) के हिसाब से विभाजित करना पड़ता है ।

M & A Deals (merger & acquisition)

जब एक से अधिक व्यवसाय जुड़ते हैं या एक व्यवसाय दूसरे व्यवसाय को कब्जे में लाती है, तब सौदे में आनेवाले व्यवसाय का बिज़नेस वैल्यूएशन ( Business Valuation) करके सौदा किया जाता है।

Winding of Business

व्यापार का जब दिवाला निकल जाता है और अधिक निकसानी को सापत करते हुए भी व्यवस्थापन संबंध की रक्क्म गिनकर सारे हिसाब चूकते करने बिज़नेस वैल्यूएशन ( Business Valuation) किया जाता है।

Company Valuation Meaning With Example In Hindi
Company Valuation Meaning With Example In Hindi

Sale of Business

व्यापार की बिक्री के समय बिज़नेस वैल्यूएशन ( Business Valuation) की बहुत बड़ी भूमिका है , क्योंकि हर तरीको की जांच के साथ तर्क लागू लगाने के साथ बाजार के मंतव्य जोड़े जाते है।

Procurement of funds &Fund Raising

बिज़नेस में निवेश प्राप्त करने के पहले Business Entrepreneur को Business Investor को बिज़नेस वैल्यूएशन ( Business Valuation) प्रस्तुत करके उनके से इक्विटी के लिए धनराशि के लिए समझाना पड़ता है की वो बिज़नेस आईडिया किस तरह लाभकारी है। कोई एक इन्वेस्टर न होकर जब सीरीज ऑफ़ इक्विटी द्वारा निवेश प्राप्त किया जाता है , और इक्विटी होल्डर्स द्वारा फंड रेज किया जाता है, बिज़नेस वैल्यूएशन ( Business Valuation) प्रस्तुत करना पड़ता है।

Taxation & Statutory Dimension

आयकर विभाग और अन्य सांविधिक नियम के अनुसार बिज़नेस वैल्यूएशन ( Business Valuation) को जारी करके ही व्यापार को आगे लिया जा सकता है। व्यापार विस्तार के साथ साथ सौदे की रककम की सुरक्षा और हक़्क़ के लिए ऐसे नियम बनाये जाते हैं। जरुरत और नैतीक फ़र्ज़ के साथ निवेशदाताओं को इस जानकारी दिलाना बिज़नेस इंटरप्रेन्योर का फ़र्ज़ है।

Voluntary Assessment & Industry Perspective

स्वैच्छिक मूल्यांकन [Voluntary Assessment] करके उद्योग परिप्रेक्ष्य [Industry Perspective] से लेखांकन करने बिज़नेस एंटरप्रेन्योर को सामयिक रूप से [timely] बिज़नेस वैल्यूएशन ( Business Valuation) करके प्रस्तुत करना रहता है।

International Valuation Standards

कई अंतर्राष्ट्रीय मूल्यांकन मानक [International Valuation Standards] का पालन करने और वित्तीय रिपोर्टिंग [Financial Reporting] अनुसार बिज़नेस वैल्यूएशन ( Business Valuation) को जारी करने बिज़नेस एंटरप्रेन्योर को आकड़े सालोसाल व्यापार के लिए जमाकर रखना पड़ता है। यह सब वित्तीय जानकारी जरुरत , फ़र्ज़ के साथ अपनेआप में बिज़नेस की परिसंपत्ति [Business Asset] भी है।

Society Angle

व्यवस्थापन संबंधी और समाज दृष्टिकोण [Society Angle] में विश्वास और संबंध को बनाये रखने बिज़नेस वैल्यूएशन (Business Valuation) जारी करके बिज़नेस इंटरप्रेन्योर को वित्तीय पारदारशी जानकारी बनानी रहती है। इस तरह की प्रस्तुति लोगों को आपसे संगठित रखते हुए , हर स्तर पर बिज़नेस के विस्तार और स्थिरता को बनाये रखता है।

Amalgamation, Absorption, Merger, Acquisition, partnership, Huf, Incorporation ऐसे सारे शब्दों में बिज़नेस को बढ़ाया जाता है या कम किया जाता है। हर शब्द में बिज़नेस के स्तर में कम ज्यादा करते हुए , इन मुद्दों में बिज़नेस वैल्यूएशन (Business Valuation) के साथ साथ इन परिस्तिथी के नियम भी लागू हो जाते हैं। बिज़नेस चलाने में लगनेवाले निवेश (Monetory or Non Monetory) में जब भी बदलाव करना होता है, तब पुराने निवेश और निवेश के साथ साथ भागीदारी के गणित के अंतर को अलग अलग तोलना पड़ता है।

किसी भी व्यवसाय को खरीदते हैं, बेचते हैं या निवेश करते हैं , सौदे से जुड़े सभी लोगों को इससे मिलनेवाले मुनाफे में दिलचस्पी होती है। दो मुद्दों को लेकर बिज़नेस पार्टी (Business Party) को अपने लिए किम्मत का अंदाजा लगाना होता है और ह्क़्क़दार को उसकी रक्क्म देने ये सब गणित करने पड़ते हैं।

अन्य कारण भी होते है, जिसके वजह से बिज़नेस वैल्यूएशन (Business Valuation) को देखा जाता है;

  • जब कोई पार्टनरशिप कंपनी में कोई पार्टनर बिज़नेस को छोड़ देता है या वह मर जाता है तब नए दस्तावेज बनाने के साथ साथ सौदों में पुराने और नए बिज़नेस वैल्यूएशन (Business Valuation) का गणित करना पड़ता है।
  • जब बिज़नेस कंपनी बंद होती है, उसके सारे सौदे ख़त्म करने ऐसे गणित कि आवशयकता होती है।
  • कोई कंपनी किसी नयी कंपनी को टेकओवर (takeover) करती है या कोई कंपनी मर्ज (merge) होती हैं, इस समय में ऐसे गणित के साथ सभी ओनर (owner) के सौदे पुराने और नए गणित पे किये जाते हैं।

यह भी पढ़ें:- Debt Investments: Meaning, Example Explained In Hindi

मूल्यों के प्रकार जो व्यापार मूल्यांकन के लिए इस्तेमाल किया जाते है ? | What are the types of Values considered for Business Valuation ?

बिज़नेस और परिस्तिथि के अनुसार एक्सपर्ट विविध मूल्यों को लेखांकन करने के लिए इस्तेमाल कर सकते हैं।

मूल्य की अवधारणा सुंदरता के वर्णन जैसा होता है। जैसा कि यह प्रख्यात वाक्य है कि ‘सुंदरता देखनेवाले की आंखों में निहित होता है। मूल्य एक ऐसे व्यक्ति द्वारा निर्धारित किया जाता है जो किसी चीज में मूल्य की तलाश करता है या समझता है। बिज़नेस वैल्यूएशन [Business Valuation] की प्रक्रिया को ‘मूल्यांकन’ कहते हैं। व्यवसाय मूल्यांकन [Business Valuation] – एक अनुमान है और यह सटीक एक आकड़े पर नहीं गिना जा सकता।

इस मूल्य का अनुमान या मूल्यांकन करनेवाले पेशेवर को ‘वैल्यूअर’ कहते हैं । इसके गणित करने कई सूचनाएं होने के बावजूद यह एक चर्चा का विषय ही हैं की इन प्रक्रियाओं में Business Valuation Method के अतिरेक तर्क लगाने के बाद नीचे दी हुई विविध वैल्यू में एक प्रकार का उपयोग किया जा सके।

  1. मूल मान [Original Value]
  2. पुस्तक मूल्य [Book Value]
  3. मूल्यह्रास मूल्य [Depreciated Value]
  4. बिक्री मूल्य [Sale Value]
  5. खरीद मूल्य [Purchase Value]
  6. प्रतिस्थापन मूल्य [Replacement Value ]
  7. बाजार मूल्य [Market Value]
  8. आर्थिक मूल्य [Economic Value]
  9. शेष/अवशिष्ट मूल्य [Residual Value]
  10. निपटान मूल्य [Disposal Value/Scrap Value]
Company Valuation Meaning With Example In Hindi
Company Valuation Meaning With Example In Hindi

व्यवसाय मूल्यांकन के तत्व [Elements of Business Valuation]

व्यवसाय मूल्यांकन के तत्व की चर्चा करते हैं , जिसकी समझ से हम बिज़नेस की जरुरत के हिसाब से मूल्यांकन कर सकते हैं। मूल्यांकन के क्षेत्र में शामिल कई उपकरण और तकनीकें हैं, जो इस बात पर निर्भर करती हैं कि क्या महत्वपूर्ण है। ये सरल नियमों से लेकर काम्प्लेक्स मॉडल तक बताये गए हैं। इस समझ में यह दृष्टिकोण जोड़ते रहना हैं की बिज़नेस में हमारा क्या हैं और बिज़नेस को क्या देना हैं।

यह निर्धारित करने में कि इनमें से कौन से दृष्टिकोण का उपयोग करना है, मूल्यांकनकर्ता को प्रत्येक के रूप में विवेक का प्रयोग करना चाहिए। तकनीक के फायदे के साथ-साथ कमियां भी हैं। एक से अधिक तकनीकें, जिन्हें मूल्य निष्कर्ष पर पहुंचने से पहले एक-दूसरे के साथ सामंजस्य स्थापित किया जाना चाहिए।

हमने एक एक मुद्दा देखा जहॉं बिज़नेस वैल्यूएशन (Business Valuation) इस्तेमाल होता है। इन सभी जगह में मेहनत और पैसे किसीने पहले से लगाए होते हैं जिसमें जुड़ते हुए हिस्सेदार अपनी ओरसे मेहनत और पैसे से निवेश करता है। इस गणित का सीधा मतलब अबतक किये हुए प्रॉफिट मार्जिन (Profit Margin )और सेल्स ग्रोथ (Sales Growth ) से होनेवाले भविष्य में प्रॉफिट मार्जिन (Profit Margin )और सेल्स ग्रोथ (Sales Growth) का संतुलन बनाना है।

इंडस्ट्री और नियमों को देखते हुए प्रॉफिट (Profit) और सेल्स (Sales) के साथ मल्टिप्लाय किया जाता है। कभी कभी व्यावसायिक वर्ग के अनुसार इसके अलग नियम भी होते है। साथ ही गुडविल (goodwill) या रिप्लेसमेंट कॉस्ट (replacement cost) इन अर्थों को गिनते हुए बिज़नेस को विशेष रूप से हिसाब लगाया जा सकता है।

सभी परिसंपत्तियों और देनदारियों के लेखे जोखे करने के साथ आकस्मिक लेन देन के हिसाब की गणना करके Business Valuation Approach को विविध दृष्टिकोण और उपयोग अनुसार बनाये गए हैं;

  1. आर्थिक परिस्तिथि [Economic Conditions]

जैसा कि हम पोर्टफोलियो प्रबंधन सिद्धांत में देखते हैं, जिसमें हम अर्थव्यवस्था-उद्योग कंपनी दृष्टिकोण [Economy-IndustryCompany (E-I-C) approach] को अपनाते हैं। व्यापार मूल्यांकन में भी, एक अध्ययन और समझ के लिए मूल्यांकन के समय मौजूद राष्ट्रीय, क्षेत्रीय और स्थानीय आर्थिक स्थितियां जानकार बिज़नेस में अमल करना पड़ता हैं।

  1. वित्तीय विवरणों का सामान्यीकरण [Normalization of Financial Statements]

आर्थिक रूप से जो लेखांकन किया गया होता है , उसमें कई बदलाव होते रहते हैं । इन मूल्यों को तर्क से बदलने चाहिए और वित्तीय विवरणों का सामान्यीकरण करने के बाद प्रस्तुत करने चाहिए।

  1. मूल्यांकन दृष्टिकोण [Valuation Approach]

व्यापार मूल्यांकन के लिए तीन सामान्य दृष्टिकोण हैं Discounted Cash Flow Valuation, इस दृष्टिकोण को आय दृष्टिकोण के रूप में भी जाना जाता है। जहां व्यवसाय या संपत्ति द्वारा शुद्ध वर्तमान मूल्य की गणना करके निर्धारित किया जाता है। इस प्रकार, DCF दृष्टिकोण सभी भविष्य के नकदी के लिए एंटरप्राइज़ मान के बराबर है।

Company Valuation Meaning With Example In Hindi
Company Valuation Meaning With Example In Hindi

यह भी पढ़ें:- What is Prototype Business Definition, Model, Meaning In Hindi

Relative Valuation / Market Approach

व्यापार के प्रतिस्पर्धी की तुलनाये करने के बाद इसे बाजार के बराबर अंकित करने किया जाता है। बिज़नेस बाजार की परिस्तिथि के अनुसार कहाँ स्थित है , यह समझने यह दृष्टिकोण से गणित किया जाता है। Earnings before Interest, Taxes, Depreciation and Amortization [EBITDA], ब्याज और कर काटने के पहले आय की रक्क्म [Earnings before Interest & Taxes (EBIT)], कर काटने के पहले आय की रक्क्म [ Earnings before Taxes (EBT)] और कर काटने के बाद आय की रक्क्म [Earnings After Taxes (EAT)] ऐसे लेखांकन किये गए आकड़ो का इस गणना में इस्तेमाल किया जाता है।

Contingent Claim Valuation – यह दृष्टिकोण परिसंपत्तियों के मूल्य का अनुमान लगाने के लिए विकल्प मूल्य निर्धारण मॉडल का उपयोग करता है।

Other Valuation Approaches:

Asset – based approach – यहां मूल्यांकन परिसंपत्तियों (Business Asset)और देनदारियों (Business Liabilities) के बीच का अंतर की शेष राशि से ली जाती है।

Business Value = Business Asset-Business Liabilities

इस फार्मूला में –

Business Asset Value = Liquidation Value / Replacement Cost
Liquidation Value – अनुमानित बिक्री की रककम
Replacement Cost – संसाधन को खरीदने का दाम

Economic Value added (EVA) – यह शेयरधारक मूल्य , कंपनी की पूंजी की लागत से अधिक रिटर्न अर्जित करके बनाया गया है इस आधार पर विश्लेषण किया जाता है ।

Performance-based compensation plan – विविध मापदंडो का प्रयोग करके प्रदर्शन-आधारित मुआवजा बिज़नेस वैल्यूएशन के रूप में तय करके बिज़नेस से जुड़े लोगो को प्रदान करने गईं जाता है।

Conclusion

Shark Lesson of the Day by Shark Anupam Mittal में हमने और जानकारी जोड़कर बिज़नेस वैल्यूएशन (Business Valuation) को समझाने का प्रयास किया है। हम उम्मीद करते है कि आपको इससे काफी मदद मिली होगी।

आपको शार्क टैंक इंडिया रियलिटी शो को सोनी लिव अप्प में देखते हुए अब भी कोई जानकारी समझनी हो या कुछ और लिखित जानकरी पर हमारी ओर से कोई मदद चाहिए तो हमें जरूर लिखे। रोज नए मुद्दे लाना और आपतक लाना हमारा लक्ष्य है। आपके लिए आसान करने हमने एप्लीकेशन भी बनायी है। आप वहाँ हमारी सारी जानकारी ले सकते हैं।

Shark Tank ki Paathshala – Company Valuation as explained on Instagram के परिभाषा में विस्तार जो हमनें आज बातें की है, उसपर आपकी कोई प्रतिक्रिया या सवाल जवाब हो तो हमारे Linkedin ग्रुप पर आप जुड़ सकते हैं। एक ख़ास सुचना का जरूर ध्यान दे – कोई असामान्य घटना या कोई दृश्यमान कारण जिसके वजह से कंपनी वैल्यूएशन (Company Valuation) में फर्क हो सकता है। उसपर गौर करके ठीक करने के बाद इस्तेमाल करना चाहिए। आवश्यक बदलाव से गणित में शामिल करना चाहिए। मूल्यांकन के इरादे को ध्वस्त नहीं किया जाना चाहिए।

Company Valuation या Business Valuation को हक्क्दार का हिस्सा देने के साथ व्यापार की असल में परिस्तिथि की जांच करने इस्तेमाल किया जाता है। इन रककम को सही से इस्तेमला करना भी एक हुनर है, साथ ही फ़र्ज़ भी। एक तरीके से दूसरे तरीके से गणना करने सेधनराशि में काफी अंतर् आ सकता है और Company Valuation की value को गलत तरीके से Business Deals में लिया जा सकता है। इन्हे सिर्फ कागज़ी फार्मूला से तर्क नहीं लगाया जा सकता है। समय और व्यवहारिक कुशलता से इसे एक Business Entrepreneur के दिमाग से किया जा सकता है। आप बस व्यापारी दृष्टिकोण को पकडे रखिये, बाकी साड़ी बातें आप बिज़नेस में जोड़ पाएंगे।

अन्य पढे

Business Lessons From Anupam Mittal

Failure Business Lesson Explained By Namita Thapar

Shark Tank India All Deals List In Season 1

Leave a Comment