Sony Pictures Networks India को Zee Entertainment से 90 मिलियन डॉलर का टर्मिनेशन देना होगा!

WhatsApp Channel Join Now
Telegram Channel Join Now

Zee Entertainment ने बताया कि Sony Pictures Networks India, जो Culver Max Entertainment Pvt. Ltd कि तौर पर उनके साथ साझेदारियों के लिए जुड़ा था और उनके दायित्वों को पूरा करने विफल रहे हैं । इसमें कल्वर मैक्स और BEPL के साथ किये गए समझौते को 22 दिसंबर 2021 में करार किया गया था।

२३ मई को Zee Entertainment ने Bangla Entertainment Private Limited से 10 बिलियन डॉलर की मर्जर डील से विमुख होने के कारण 90 मिलियन डॉलर (750 करोड़ रुपये) के टर्मिनेशन शुल्क (termination fee) कि मांग कि है। जनवरी में इस डील को खारिज करने के बातचीत हुई थी और अब इस नाकाम डील के चलते बड़ी कंपनी इस बड़ी रक्क्म कि उलझन से मीडिया में भी बहुचर्चित हो रही हैं।

Sony Pictures Networks India के Zee Entertainment को भुगतान देने की पूरी बातचीत

असल में Sony Pictures Networks India ने भी कहा था कि Zee Entertainment Enterprises Ltd (ZEEL) मर्जर की शर्तों को पूरा करने में विफल रहा और उसने सिंगापुर इंटरनेशनल आर्बिट्रेशन सेंटर (SIAC) के समक्ष 90 मिलियन डॉलर (लगभग 748.5 करोड़ रुपये) के टर्मिनेशन शुल्क का दावा करते हुए arbitration proceedings शुरू की थी।

और Zee Entertainment ने भी SIAC के समक्ष Sony Group द्वारा 90 मिलियन अमेरिकी डॉलर के दावे का सामना करने के लिए कानूनी कार्रवाई शुरू की थी। काफी समय से इन ख़बरों के बीच Business Deal की विफलता के कारण कंपनी केबड़े दावे और धनराशि को लेकर विवाद चल रहा है।

कल्वर मैक्स और BEPL को MCA के अनुसार टर्मिनेशन शुल्क, भुगतान करने के लिए कहा है। मर्जर कोऑपरेशन एग्रीमेंट (MCA) के तहत अपने दायित्वों का पालन करने में विफल होने के वजह 90,000,000 अमेरिकी डॉलर की termination fee भरनी होगी।

इसके अलावा, ZEEL ने मुंबई बेंच ऑफ नेशनल कंपनी लॉ ट्रिब्यूनल (NCLT) [National Company Law Tribunal (NCLT)] के समक्ष एक याचिका दायर की थी। जिसमें ZEEL को NCLT के समक्ष अपने subsidiary Culver Max के Indian Media House के साथ असफल मर्जर को लागू करने से रोकने के लिए interim relief मांगने की बात कही गई थी।

SIAC ने भी Sony Group की उस याचिका को अस्वीकार कर दिया था, जिसमें मर्जर योजना को लागू करने का निर्देश देने की मांग की थी। देखा जाए तो 22 जनवरी को मर्जर डील को समाप्त करने की घोषणा Sony Pictures Networks India की थी, जिसमें ZEEL ने शर्तों को पूरा न करने का आरोप लगाया था।

हालांकि Zee Entertainment Enterprises Ltd (ZEEL) ने अपनी ओर से अधिकांश शर्त पर अमल करने की बात बताई थी, लेकिन इन बातचीत में कंपनी के अपने नेतृत्व और संचालन के कारण व्यवसाय के प्रभाव भी शामिल होने के वजह से इतनी बड़े तनाव की परिस्तिथि का हिस्सा बनना पड़ रहा है।

WhatsApp Channel Join Now
Telegram Channel Join Now

Must Read:

Nasscom Foundation और L&T Technology Services ने 900 ग्रामीण महिला कारीगरों को तकनीक पर शिक्षित किया!

Highest Paid Indian CEO से भी अधिक वेतन लेनेवाले IIT graduate Meta CEO Mark Zuckerberg और Google CEO Sundar Pichai भी है आगे!

Conclusion

Sony Pictures Networks India और Zee Entertainment Enterprises Ltd (ZEEL) जैसे बड़े बिज़नेस में ऐसे साझेदारी में विवाद को देखते हैं, तो Business Entrepreneur के दृष्टि से हर स्तर पर नयी मुश्किल का सामना करने के विचारों के बारे में पता चलता है। विस्तार करने की भूख चाहे जितनी बड़ी हो, उसकी गहराई की समझ में थोड़ी भी कमी रह जाए तो बिज़नेस को बड़ा नुक्सान दे सकती है।

दोनों तरफ से याचिकाओं और मुद्दों की पेशकश के दौर को देखते हुए, अधिकांश तयारी के बावजूद जो बातचीत में असहमति बन रही है, उससे इन बिज़नेस के प्रभाव को गहराई बड़ी मालूम होती है। हालांकि इस विषय का निर्णय दोनों ही बिज़नेस के लिए काफी बड़ा साबित होगा।

Loading poll ...

Leave a Comment